Barish Shayari – Laut aye hain dekho barishen

laut aye hain dekho barishen
pher se yahan wahan
aik tumhen ko laut aanay ki
fursat nahe mili


लौट ाएँ हैं देखो बारिशें
फेर से यहाँ वहां
एक तुम्हें को लौट आने की
फुर्सत नही मिल


Share this on: